Celebrating International Women’s Day : Article on Shikha in Womenia Magazine

Dear Friends,

International-Womens-Day-2014-Feature

Today is International Women’s Day. On this occasion, I am reproducing an article on Shikha and NEEV Soaps that appeared in online Womenia Magazine last month. The article can be found at http://www.womeniaworld.com/home/ContentPage?ContentId=1387 . I am reproducing the same article below.

Womenia Emblem

The  aim of Womenia Magazine is to “help the new Indian women to break free of limitations, and disempowering thinking, get in touch with their own needs, and achieve balance and harmony in all areas of her life and get connected to the news world.” It profiles women achievers who have overcome obstacles or demonstrated courage to rise above their circumstances and get where they are today.

Shikha wrote a beautiful forward to this article, which I am sharing below. Following it is the article which appeared in Womenia Magazine. It is Hindi.

I often wonder what is special about Neev Soaps, and what would I want people to know about it. For sure it is a social enterprise giving dignified livelihood to rural women. But every time, I say this much, I feel that I haven’t been able to convey the true essence of what Neev Soaps is. It is surely not about how many soaps we sell and to how many shops. It is about the radiance on the face of each girl who is a part of the Neev Soaps team. It is about their giggles, their unique role in the whole process which they carry out completely on their own, energized by their spirit rather than by any kind of fear. It is about their spontaneity, their natural and true being, their togetherness and their creativity. To my eyes its a miracle what these girls achieve, laboring ever so happily for hours together, producing fragrant experiences for us. The photographs enmeshed in the article catch some essence of the spirit of Neev Soaps. I am grateful to Priya Shandilya for  writing and publishing this article on Neev Soaps.”

 Womenia Magazine

महिलाओं को भी मिला रोजगार

  • 2/15/2017 8:24:30 PM
  • फोकस

प्रिया शांडिल्य

देसी और हर्बल प्रोडक्ट की ओर लोगों का रुझान बढ़ाने के लिए शिखा ने नीव की शुरुआत की थी और आज इसकी लोकप्रियता इतनी बढ़ गई है कि विदेशों में भी इसकी खूशबू फैल रही हैं. शिखा की आठ साल पहले शुरू की गयी हर्बल प्लांटेशन के प्रोडक्ट की  भारत सहित जापान, सिंगापुर, न्यूज़ीलैंड आदि देशों में भी खूब पसंद किया जा रहा है.

anurag and shikha

शिखा मूलरूप से फरीदाबाद की रहनेवाली है. शादी के बाद शिखा झारखण्ड राज्य के जमशेदपुर में बस गयी. साल 2007 में अपने पति अनुराग जैन के साथ मिलकर शिखा ने एक छोटी सी हर्बल प्लांट की शुरुआत की. इससे पहले नीव ट्रस्ट नाम से उनकी एक संस्था चलती थी. जो की गरीब तबके की महिलाओं और लड़कियों के हित में काम करती है. यह संस्था जमशेदपुर के पास ही हुरलुंग गांव में स्थित है. जब शिखा इस संस्था से जुड़ी तो उसके मन में महिलाओं के लिए कुछ अलग करने की ख्वाहिश जागी. अपने इसी ख्वाहिश को नीव उत्पादों के ज़रिये आकार दिया शिखा ने.

जब हर्बल प्लांटेशन की नींव रखी गयी तो इस फैक्ट्री में प्राकृतिक उत्पादों का निर्माण तय किया गया. फिर आस- पास के गांव की लगभग 200 औरतों को हर्बल साबुन, शैंपू, तेल, इत्यादि घरेलू सामान बनाने की ट्रेनिंग दी गयी. धीरे धीरे और महिलायें इससे जुड़ती गयी. शुरुआत में तो दस बीस उत्पाद ही बनाये जाते थे, मगर आज नीव हर्बल प्लांटेशन की अपनी 100 से ज्यादा उत्पाद है. वर्तमान में 30 से ज्यादा महिलाओं को शिखा ने नीव के ज़रिये रोजगार से जोड़ा. आज वह महिलायें खुद का और अपने परिवार को आर्थिक मदद देने में समर्थ है. शिखा की इस पहल से आगे और भी महिलायें को रोजगार मिलेगा.

Shikha with women 1

नीव प्लांटेशन में प्राकृतिक जड़ी बूटियों से हर्बल प्रोडक्ट बनाये जाते हैं. वुमनिया से बातचीत में शिखा ने कहा कि  नीव का मक़सद लोगों को आयुर्वेद और एरोमा थेरेपी का एक मिश्रित स्वाद देना है जिससे लोग अपनी प्रकृति से जुड़े और खुद को स्वस्थ रखें. भारत में 175 जैविक (आर्गेनिक) दुकानों में नींव के उत्पाद सप्लाई किये जाते हैं. इसके अलावा 7 अन्य देशों में भी नीव के उत्पादों की काफी मांग है.

नीव की खासियत है की ये फल फूलों से बना होता है और इसमें किसी प्रकार का कोई केमिकल नहीं इस्तेमाल किया गया. शिखा को नीव हर्बल प्लांटेशन के लिए उन्हें बेस्ट खाद्य विलेज इंडस्ट्री के लिए राष्ट्रपति से भी सम्मानित किया गया है. शिखा को फेमिना मैगज़ीन के लिए भी नामांकित किया गया था. इन सब के अलावा शिखा को उनके कार्य के लिया काफी सराहना मिली है.

shikha with women 2

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s